-
DAYS
-
HOURS
-
MINUTES
-
SECONDS

Engage your visitors!

Sale!

गरम लोहा-Harivanshrai Bachchan

Original price was: ₹60.00.Current price is: ₹50.00. Sell Tax

गरम लोहा-Harivanshrai Bachchan

Description

गर्म लोहा पीट, ठंडा पीटने को वक्त बहुतेरा पड़ा है।
सख्त पंजा, नस कसी चौड़ी कलाई
और बल्लेदार बाहें,
और आँखें लाल चिंगारी सरीखी,
चुस्त औ तीखी निगाहें,
हाँथ में घन, और दो लोहे निहाई
पर धरे तू देखता क्या?
गर्म लोहा पीट, ठंडा पीटने को वक्त बहुतेरा पड़ा है।

भीग उठता है पसीने से नहाता
एक से जो जूझता है,
ज़ोम में तुझको जवानी के न जाने
खब्त क्या क्या सूझता है,
या किसी नभ देवता नें ध्येय से कुछ
फेर दी यों बुद्धि तेरी,
कुछ बड़ा, तुझको बनाना है कि तेरा इम्तहां होता कड़ा है।
गर्म लोहा पीट, ठंड़ा पीटने को वक्त बहुतेरा पड़ा है।

एक गज छाती मगर सौ गज बराबर
हौसला उसमें, सही है;
कान करनी चाहिये जो कुछ
तजुर्बेकार लोगों नें कही है;
स्वप्न से लड़ स्वप्न की ही शक्ल में है
लौह के टुकड़े बदलते
लौह का वह ठोस बन कर है निकलता जो कि लोहे से लड़ा है।
गर्म लोहा पीट, ठंड़ा पीटने को वक्त बहुतेरा पड़ा है।

घन हथौड़े और तौले हाँथ की दे
चोट, अब तलवार गढ तू
और है किस चीज की तुझको भविष्यत
माँग करता आज पढ तू,
औ, अमित संतान को अपनी थमा जा
धारवाली यह धरोहर
वह अजित संसार में है शब्द का खर खड्ग ले कर जो खड़ा है।
गर्म लोहा पीट, ठंडा पीटने को वक्त बहुतेरा पड़ा है।

 

It has taken a lot of time to beat hot iron and beat cold iron.
hard claws, tight broad wrists
and batted arms,
And eyes like red sparks,
sharp and sharp eyes,
Cube in hand, and two iron anvils
But what do you see?
It has taken a lot of time to beat hot iron and beat cold iron.

wakes up drenched and bathed in sweat
One who struggles,
I don’t know about you in my youth.
What does a drunkard think of?
Or some sky god did something with purpose
This is how your intelligence changed,
You have to create something big, your test will be tough.
There has been a lot of time to beat hot iron and cold iron.

One yard chest but hundred yards equal
The courage is there, right;
whatever should be heard
Experienced people have said;
The fight with the dream is in the form of a dream
changing pieces of iron
That iron comes out in a solid form which is fought with iron.
There has been a lot of time to beat hot iron and cold iron.

hand hammer and weights
Hurt, now you sheathe your sword
What else is your future?
I demand that you study today.
And, Amit, hand over your child to him.
This heritage of Dharwali
He is the unbeaten one in the world who is standing with the sword of words.
It has taken a lot of time to beat hot iron and beat cold iron.

Reviews

There are no reviews yet.

Only logged in customers who have purchased this product may leave a review.

Sign In

Register

Reset Password

Please enter your username or email address, you will receive a link to create a new password via email.