-
DAYS
-
HOURS
-
MINUTES
-
SECONDS

Engage your visitors!

Sale!

तुम्हारे नील झील-से नैन-Harivanshrai Bachchan

Original price was: ₹60.00.Current price is: ₹50.00. Sell Tax

तुम्हारे नील झील-से नैन-Harivanshrai Bachchan

Description

तुम्हारे नील झील-से नैन,

नीर निर्झर-से लहरे केश।

तुम्हारे तन का रेखाकार

वही कमनीय, कलामय हाथ

कि जिसने रुचिर तुम्हारा देश

रचा गिरि-ताल-माल के साथ,

करों में लतरों का लचकाव,

करतलों में फूलों का वास,

तुम्हारे नील झील-से नैन,

नीर निर्झर-से लहरे केश।

उधर झुकती अरुनारी साँझ,

इधर उठता पूनो का चाँद,

सरों, शृंगों, झरनों पर फूट

पड़ा है किरनों का उन्माद,

तुम्हें अपनी बाँहों में देख

नहीं कर पाता मैं अनुमान,

प्रकृति में तुम बिंबित चहुँ ओर

कि तुममें बिंबित प्रकृति अशेष।

तुम्हारे नील झील-से नैन,

नीर झर्झर-से लहरे केश।

जगत है पाने को बेताब

नारि के मन की गहरी थाह—

किए थी चिंतित औ’ बेचैन

मुझे भी कुछ दिन ऐसी चाह—

मगर उसके तन का भी भेद

सका है कोई अब तक जान!

मुझे है अद्भुत एक रहस्य

तुम्हारी हर मुद्रा, हर वेश।

तुम्हारे नील झील-से नैन,

नीर निर्झर-से लहरे केश।

कहा मैंने, मुझको इस ओर

कहाँ फिर लाती है तक़दीर,

कहाँ तुम आती हो उस छोर

जहाँ है गंग-जमुन का तीर;

विहंगम बोला, युग के बाद

भाग से मिलती है अभिलाष;

और… अब उचित यहीं दूँ छोड़

कल्पना के ऊपर अवशेष।

तुम्हारे नील झील-से नैन,

नीर निर्झर-से लहरे केश।

मुझे यह मिट्टी अपना जान

किसी दिन कर लेगी लयमान,

तुम्हें भी कलि-कुसुमों के बीच

न कोई पाएगा पहचान,

मगर तब भी यह मेरा छंद

कि जिसमें एक हुआ है अंग

तुम्हारा औ’ मेरा अनुराग

रहेगा गाता मेरा देश।

तुम्हारे नील झील-से नैन,

नीर निर्झर-से लहरे केश।

Your blue lake-like eyes,

Hair flowing like a waterfall.

outline of your body

the same graceful, artistic hands

The one who is interested in your country

Created with Giri-Taal-Maal,

Liturgy in taxes,

Flowers reside in pots,

Your blue lake-like eyes,

Hair flowing like a waterfall.

Arunari evening bowing there,

The moon of Puno rises here,

split on heads, horns, springs

There is a frenzy of rays,

see you in my arms

I can’t guess,

You are reflected everywhere in nature

That the nature reflected in you remains intact.

Your blue lake-like eyes,

Tears and wavy hair.

The world is desperate to get

Deep depth of woman’s mind-

were worried and restless

I too want something like this for a few days-

But there is a difference in his body too

No one has been able to know yet!

i have a wonderful secret

Your every posture, every disguise.

Your blue lake-like eyes,

Hair flowing like a waterfall.

I said, take me this way

Where does fate bring again?

where do you come from, that end

Where is the arrow of Ganga-Jamun;

Vihangam said, after the era

Part meets desire;

And… let me just leave it here

Remains above the imagination.

Your blue lake-like eyes,

Hair flowing like a waterfall.

I consider this soil as my own.

Some day she will do it,

you too among the buds and flowers

No one will be able to recognize you,

But still this is my verse

that has one organ

your and my love

My country will keep singing.

Your blue lake-like eyes,

Hair flowing like a waterfall.

Reviews

There are no reviews yet.

Only logged in customers who have purchased this product may leave a review.

Sign In

Register

Reset Password

Please enter your username or email address, you will receive a link to create a new password via email.